ओवर वियु

प्रयोग्याला की स्थापना 1941 में अनुसंधान एवं उत्पादन केन्द्र के रूप में हुई जिसे जम्मू-कश्मीर राज्य की भेड्ढज अनुसंधान प्रयोग्याला के रूप में जाना जाता था तथा तत्पश्चात् Õेत्रीय अनुसंधान प्रयोग्याला के रूप में वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिड्ढद्, भारत सरकार ने दिसम्बर 1957 में अपने अधीन ले लिया। तदुपरान्त इस प्रयोग्याला को प्राकृतिक उत्पाद आधारित भेड्ढज अन्वेड्ढण सामथ्र्य को देखते हुए वड्र्ढ 2005 में संस्थान के अधिदे्य को पुनः परिभाड्ढित किया और इसका नाम भारतीय समवेत औड्ढध संस्थान (आई.आई.आई.एम.) के रूप में परिवर्तित कर दिया गया। सम्प्रति आई.आई.आई.एम. जम्मू का अधिदे्य नये भेड्ढज अन्वेड्ढण तथा राष्ट्रीय एवं अन्र्तराष्ट्रीय बाजारों के लिए भेड्ढज तथा उच्चमूल्य के उत्पादों, तकनीकों का विकास, जैवप्रौद्योगिकी द्वारा सम्पन्न, पादप एवं सूक्ष्म जैविकीय मूल दोनों के प्राकृतिक उत्पादों से नई भेड्ढज एवं उनके चिकित्सीय सादृश्यों की खोज है।


संस्थान - एक नज़र में

स्थान जम्मू, भारत
वैज्ञानिक स्टाॅफ * 54 +1 QHS
तकनीकी स्टाॅफ * 60
अन्य तकनीकी सम्बन्धित स्टाॅफ 184
ए.सी.एस.आई.आर. से पंजीकृत छात्र 168
अन्य विश्वविद्यालयों से पंजीकृत छात्र 52
* 01.01.2015 को  

चल रही परियोजनाएं

कुल परियोजनाएं 52
अनुदान आधारित परियोजनाएं 33
प्रायोजित परियोजनाएं 5
नेटवॅर्क परियोजनाएं 11
पराम्र्यी परियोना 1
* 01.01.2015 को  

बजट विवरण (पिछले 5 वड्र्ढ)

बजट 2010-11
बजट 2011-12
बजट 2012-13
बजट2013-14
बजट 2014-15